चौकी इंचार्ज की दहशत में युवक ने लगाई फांसी, शव से आँखें गायब

चौकी इंचार्ज पर लगाया उत्पीड़न का आरोप

युवक की सुसाइड के बाद आया नया मोड़

माँ बोली चौकी इंचार्ज के डर से मेरा बेटा झूल गया फांसी पे

उरई: मंडी चौकी इंचार्ज की कार्यप्रणाली से क्षेत्र के लोग काफी दहशत में है। चौकी इंचार्ज कब किसी को उठा ले जाये और किस फर्जी मामले में जेल भेज दे। ये डर मंडी चौकी क्षेत्र के लोगों के दिमाख में बस गया है मंडी चौकी इंचार्ज की दहशत के चलते एक युवक ने फांसी लगाकर जान दे दी। उसके बाद जब मोर्चुरी से शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जा रहे थे उस वक्त मृतक की आँखें उसके देह से गायब थीं।

एक विधवा बूढ़ी मां ने रो रो कर मंडी चौकी इंचार्ज पर जमकर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि मेरे पुत्र की मौत का जिम्मेदार मंडी चौकी इंचार्ज अभिषेक सिंह है। उसी की दबंगई और डर के चलते मेरे पुत्र ने फांसी लगा ली। उन्होंने आरोप लगाया कि पहले मेरे पुत्र को तमंचा लगाकर जेल भेज दिया। बड़ी मुश्किल से जमानत कराई लेकिन अगले दिन ही मंडी चौकी इंचार्ज और सिपाहियों ने मेरे पुत्र को बहुत पीटा।

जिसके चलते वो इतना डर गया कि उसने फांसी लगा ली। विधवा ने पुलिस अधीक्षक को भी मंडी चौकी इंचार्ज की कारगुजारियों को लेकर एक शिकायत्री पत्र दिया और कहा कि प्रार्थिनी गुड्डून पत्नी स्व० सुरेश इन्द्रानगर वार्ड 14, उरई की निवासी है, प्रार्थिनी विधवा है।

चौकी इंचार्ज के दहशत में रहते हुए लगा ली फांसी

जो कि मजदूरी करके परिवार का भरण-पोषण करती है, महोदय प्रार्थिनी का पुत्र विनय रायकवार को 25 दिन पूर्व में शाम के समय राठ रोड पुल के नीचे से गल्ला मण्डी चौकी इंचार्ज अभिषेक सिंह, अकारण उठा ले गये थे, रात भर मारपीट करते रहे, हम लोग पूंछते रहे तो बताया कि हमें नहीं पता कि आपका लड़का कहाँ है? कभी कहते कि कोटरा पुलिस ले गई तो कभी कहते कि एसओजी ले गई। दूसरे दिन पता चला कि उसके पुत्र को मंडी चौकी इंचार्ज ने एक कट्टा और कारतूस लगाकर चालान कर दिया।

जैसे तैसे प्रार्थिनी ने जमानत कराई, तो दो दिन पहले चौकी इंचार्ज मेरे घर आये और आकर अकारण ही मेरे पुत्र को बहुत मारा-पीटा , और मेरी पुत्री सोनिया को भी मारा, महोदय मेरा पुत्र 2 दिन से इतनी दहशत में था, कि कल शाम उसने घर पर ही फाँसी लगा ली, जिससे उसकी मृत्यु हो गई, महोदय जी से प्रार्थना कि उक्त एसआई एवं सिपाहियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कानूनी कार्यवाही करने कृपा करें।

मृतक की आंख गायब देख भड़के परिजन

Youth hanged in Orai in fear of chauki incharge

पहले से ही दुखी परिजनों का गुस्सा उस समय और ज्यादा फूट पड़ा, जब वो मोर्चरी से मृतक को पोस्टमार्टम के लिए ले जा रहे थे। मृतक की आंखे गायब देख परिजन हैरान हो गए और उनका आक्रोश भड़क गया। परिजनों ने अस्पताल के गेट पर ही मृतक के शव को रख दिया और हल्ला करने लगे। सूचना पाकर कोतबाल विनोद पांडेय ओर सीओ संतोष कुमार मौके पर पहुंचे और परिजनों को समझा बुझा कर सांत कराया।

चौकी इंचार्ज पर कार्यवाही की परिजनों ने की मांग

जब परिजन शव को सड़क पर रखकर हो-हल्ला कर रहे थे तो सबसे ज्यादा आक्रोश मंडी चौकी इंचार्ज के खिलाफ था। परिजनों ने इसी शर्त पर शव को उठाने दिया कि चौकी इंचार्ज अभिषेक सिंह के खिलाफ कार्यवाही की जाए।

Youth hanged in Orai in fear of chauki incharge

पूरे मामले की सीओ करेंगे जांच

अपर पुलिस अधीक्षक ने कहा: युवक की सुसाइड के बाद परिजनों दुबारा मंडी चौकी इंचार्ज के खिलाफ लगाए गए आरोप की जांच सीओ संतोष कुमार करेंगे। इस मामले में जो भी दोषी होगा उंसके खिलाफ कड़ी करवाई की जाएगी।

Alok Pachori (A.T.A)

Assistant Editor, Social Media Manager, Founder Of The Jhansi Writers

Alok Pachori (A.T.A) has 103 posts and counting. See all posts by Alok Pachori (A.T.A)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *