नए कानून अंग्रेजी हुकूमत नहीं बल्कि भारतीय सोच पर केंद्रित : डीआईजी

कहा- कानून में बदलाव से होता है समाज में बदलाव

नए कानून की विस्तृत जानकारी पर आधारित कार्यशाला आयोजित

झांसी। एक जुलाई 2024 सोमवार भारतीय इतिहास में सदैव याद रखा जाएगा। आज से शुरू हुए भारत में नए कानून की जानकारी जनता तक पहुंचाने के लिए जनपद और मंडल स्तर पर कार्यशालाएं आयोजित की जा रही है। इसी क्रम में एक कार्यशाला थाना सीपरी बाजार में आयोजित की गई। जिसमे गणमान्य व संभ्रांत नागरिकों को कानून की जानकारी दी जानकारी दी गई। इस दौरान डीआईजी झांसी कलानिधि नैथानी भी कार्यशाला में शिरकत करने पहुंचे।

 

कार्यशाला के सफल आयोजन पर उन्होंने एसएसपी व एसपी सिटी समेत सभी की सराहना की। कहा कि आज का दिन बहुत महत्व पूर्ण है। आज के दिन अंग्रेजी हुकूमत से छुटकारा मिला और भारतीय सोच पर आधारित कानून हमको मिला। उन्होंने कहा कि कानून में बदलाव समाज में परिवर्तन लाता है।

 

उन्होंने कहा कि आज का दिन ऐतिहासिक दिन है, जो तीन नए बदलाव हो रहे है। उन्होंने कहा कि कानून से बदलाव में समाज में बदलाव होता है और इससे देश प्रगति की ओर जाता है। आज का दिन कार्यशाला के आयोजक बधाई के पात्र है जो तीनो नए कानून हमको मिल रहे है। उन्होंने कहा कि यह पीड़ित को न्याय दिलाने और न्यायालय में लंबित मामलों का जल्द निस्तारण कराने में अहम भूमिका निभाएंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि इसमें इलेक्ट्रोनिक एविडेंस को महत्वपूर्ण दर्जा दिया गया है।

 

विवेचनाओं में भी लाभ मिलेगा। उन्होंने नए कानून के प्रभावी सफल क्रियान्वयन हेतु कार्यशाला में आए हुए आम जनमानस लोगों से चर्चा की। उन्होंने कहा कि नए कानून के आधुनिक वैज्ञानिक आधार पर पीड़ित को त्वरित न्याय मिलना सुनिश्चित होगा। उन्होंने कहा कि इसकी अधिक से अधिक लोगों को जानकारी हो इसके लिए पुलिस जनजन तक पहुंच कर इसकी जानकारी देगी। उन्होंने आयोजित की गई कार्यशाला को सफल बनाएं जाने पर एसएसपी और एसपी सिटी को बधाई दी कार्यशाला का संचालन समाजसेवी नीति शास्त्री ने किया।

 

जो नहीं आए बहुत कुछ समझ नहीं आएगा
उन्होंने कहा कि आज काफी लोग उपस्थित हुए। लेकिन जो नहीं आ सके हैं उन्हें नेट के माध्यम से या अन्य माध्यमों से इसका अध्ययन जरूर करना चाहिए। यह पुलिस को भी पारदर्शिता प्रदान करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *