पूर्व मंत्री के गांव का विचित्र अस्पताल, इलाज के अलावा सब मिलेगा यहां

बाँदा : नरैनी तहसील क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले पूर्व मंत्री के गांव नंदवारा में स्वास्थ्य सुविधा में बड़ा खेल खुलेआम हो रहा हैं। गांव में बने अस्पताल से लोगों को इलाज ही नहीं मिल पा रहा है। विभाग के रहमोकरम से चिकित्सक व उनके स्वास्थ्य कर्मी नदारद रहते हैं। मुख्यमंत्री के आदेश से प्रदेश के सभी अस्पतालों की ओपीडी सेवाएं चालू करने के निर्देश हो गए हैं। लेकिन, नंदवारा गांव में मौजूद प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अभी तक नहीं खोला गया।

पूर्व मंत्री स्व सुरेंद्र पाल वर्मा के पैतृक ग्राम नंदवारा में मौजूद प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बन्द चल रहा हैं। नंदवारा गांव के ग्रामीणों ने बताया कि गांव में मौजूद अस्पताल से किसी भी प्रकार की स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ नहीं मिल रहा। बीते कई वर्षों से अस्पताल ज्यादातर बन्द ही रहता है।

मालूम करने पर पता चला कि यहां पर एक महिला चिकित्सक के अलावा एक डॉक्टर व फार्मासिस्ट सहित वार्डवाय की तैनाती है। फार्मासिस्ट कमलेश गुप्ता कभी कभार ही आते हैं। कागज व सभी की हाजरी पूर्ण कर वापस घर चले जाते हैं। इसी प्रकार यहां पर तैनात महिला चिकित्सक डॉ रूबी ज्वाइन करने के बाद आज तक अस्पताल नहीं आईं। उक्त चिकित्सक प्रयागराज जनपद की निवासी बताई गईं।

अस्पताल में एक और बीएएमएस चिकित्सक डॉ देवी चरण की भी तैनाती है। वो भी कभी कभार ही अस्पताल आते हैं। अस्पताल में वार्ड ब्यॉय गुलाब सिंह परिसर में देखभाल के लिए परिवार लेकर रहता हैं। मगर, ओपीडी सहित मुख्य गेट पर हमेशा ताला लगा रहता है। मालूम करने पर पता चला कि उक्त अस्पताल सिर्फ कागजों में ही चल रहा है। धरातल पर नजर डाली जाए तो विभाग की लापरवाही खुलेआम नजर आती है।

स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ न मिलने से ग्रामीण आक्रोशित

चिकित्सक के न आने व स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ न मिलने से ग्रामीण आक्रोशित हैं। अस्पताल के बारे में कई बार विभाग के लोगों से शिकायत दर्ज कराई गईं। गांव के रहने वाले महेश राजपूत, कमलेश राजपूत, संजय, सन्तोष राजपूत, सुनील श्रीवास आदि ने अस्पताल खोले जाने की मांग की।

अस्पताल बन्द होने के बाबत जब मुख्य चिकित्सा अधिकारी एनडी शर्मा से बात की गई तो उन्होंने बताया कि ओपीडी सेवाएं तो जनपद के सभी अस्पतालों में शुरू हो गई हैं।नंदवारा गांव में मौजूद अस्पताल के संदर्भ में जानकारी कर उचित कार्यवाही किये जाने की बात कही। बता दें कि नंदवारा गांव में मौजूद प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में दस हजार से ऊपर की आबादी का क्षेत्र लगा हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *