शासकीय योजनाओं से लाभान्वित होंगे कोविड से अनाथ हुए बच्चे

जरूरतमंद बच्चों की मदद के लिए समाज के समद्ध तबके को आगे आना चाहिए

झाँसी : कोविड महामारी से अनाथ हुए तीन बच्चों के मदद के लिए परमार्थ समाज सेवी संस्थान द्वारा संचालित चाइल्ड लाइन सिटी के द्वारा जिला प्रशासन के साथ संवाद कर बच्चों को आर्थिक रूप से मदद करने के लिए स्पोंसरशिप योजना में पंजीकरण कराया गया। इस योजना के माध्यम से बच्चों को उनकी पढ़ाई एवं भरण पोषण के लिए प्रतिमाह 2000 रूपये की धनराशि सरकार के द्वारा प्रदान की जायेगी।

आपको बात दे कि कुछ दिन पूर्व पीरिया रोड निवासी जुमरत का कोरोना संक्रमित होने से देहान्त हो गया था। जुमरत के पति का 13 वर्ष पहले ही देहान्त हो गया था। जुमरत के द्वारा अपने 3 बच्चों को पालन पोषण किया जा रहा था। लेकिन कोरोना महामारी ने तीनों बच्चों को पल भर में ही अनाथ बना दिया। वर्तमान में तीनों बच्चे केके पुरी आवास विकास में नाना-नानी एवं मामा के साथ रह रहे है।

चाइल्ड लाइन के निदेशक संजय सिंह ने कहा ऐसे जरूरतमंद बच्चों की मदद करने के लिए समाज के समद्ध तबके को आगे आना चाहिए। उन्होंने राहत राशन सामग्री किट के साथ साथ कहा परिवार की आवश्यकता अनुसार आर्थिक मदद की जायेगी।

जिला प्रोबेशन अधिकारी नन्दलाल सिंह ने कहा कि शासन द्वारा निर्देशित प्रावधान के अनुसार कोविड से प्रभावित बच्चों को 5000 रुपये सहायता राशि का प्रावधान किया गया है। इसके अलावा शासन द्वारा चलाई जा रही स्पोंसरशिप योजना के माध्यम से बच्चों को 2000 रूपये की आर्थिक सहायता एवं पात्र बालिकाओं को मुख्यमंत्री सुमंगला योजना से लाभान्वित किया जायेगा, जिससे इन बच्चों की शिक्षा एवं भरण पोषण हो सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *