बुंदेलखंड के प्रथम ऑक्सीजन बैंक का झाँसी में शुभारंभ

परमार्थ व स्किल्ड इंडिया का प्रयास

झाँसी : कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी के कारण तमाम परिवार ऑक्सीजन के लिए बिलखते नजर आए। कईयों की अस्पताल पहुंचते पहुंचते मौत हो गई। तो कई ऐसे भी रहे जो अस्पतालों के दरवाजे पर इस इंतजार में बैठे रहे कि कब पलंग खाली हो और ऑक्सीजन की व्यवस्था बन सके। ऐसे में बुंदेलखंड के झाँसी में परमार्थ समाज सेवी संस्थान, स्किल्ड इंडिया सोसाइटी एवं बी कैपिटल के संयुक्त प्रयास से गुरुवार को ऑक्सीजन बैंक का शुभारंभ किया गया।

इस अवसर पर कार्यक्रम की मुख्य अतिथि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव जज शीतल प्रियदर्शी ने इसे बुंदेलखंड में एक नई शुरुआत बताया। उन्होंने संकट के समय की गई लोगों की मदद को सच्ची मानव सेवा कहा। यह पुण्य का काम है। समाज के सभी वर्गों को इसमें सहयोग करना चाहिए।

स्थानीय सभासद की लगेगी संस्तुति

यह सेवा पूरी तरह से निशुल्क है। इसके लिए जीएनएम स्टाफ की नियुक्ति ऑक्सीजन बैंक के द्वारा की गई है, जो जरूरतमंद के घर पर ही ऑक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध कराएगी। ऑक्सीजन कंसंट्रेटर ले जाने वाले लोगों के लिए अपने स्थानीय सभासद से संस्तुति करवाना अनिवार्य है। अभी पांच ऑक्सीजन कंसंट्रेटर से बैंक शुरू किया गया है, जिसे आवश्यकता के अनुसार बढ़ाया जाएगा।

ये टीम चलाएगी ऑक्सीजन बैंक 

स्किल्ड इंडिया सोसायटी की टीम इस ऑक्सीजन बैंक को सुचारू रूप से चलाने में सहयोग करेगी। उनमें मुख्य रूप से प्रतीक खरे, संजय गुप्ता, रश्मि, पवन, स्वाति, निर्मला यादव, पुनीत एवं रमेश आदि उपस्थित रहे।

24 घंटे खुला रहेगा, टोल फ्री नंबर 18005727274 जारी

स्किल्ड इंडिया सोसाइटी के निदेशक नीरज सिंह ने कहा कोरोना के भीषण कठिन समय में जिस तरह से उन्होंने जरूरतमंदों को प्लाज्मा उपलब्ध करा कर अपने मानव होने का समाज के प्रति ऋण अदा किया है। उससे उन्हें आत्म संतुष्टि मिलती है। इसी को ध्यान में रखते हुए उन्होंने स्किल्ड इंडिया के परिसर में ऑक्सीजन बैंक का शुभारंभ किया है। यह ऑक्सीजन बैंक 24 घंटे खुला रहेगा, जिसके लिए टोल फ्री नंबर 18005727274 जारी किया।

स्वास्थ्य विभाग को उपलब्ध कराए 28 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर

परमार्थ के सचिव एवं जन जन जोड़ो अभियान के राष्ट्रीय संयोजक डॉक्टर संजय सिंह ने कहा कि बुंदेलखंड के जालौन, झाँसी, ललितपुर व छतरपुर में 28 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर स्वास्थ्य विभाग को उपलब्ध कराएं हैं। गांव के संकटग्रस्त परिवारों को राशन किट उपलब्ध कराने का अभियान चलाया जा रहा है। साथ ही लोगों की क्रय शक्ति को बढ़ाने के लिए झाँसी, ललितपुर, टीकमगढ़, छतरपुर के 70 गांव के 9000 लोगों को एक-एक सप्ताह का रोजगार उपलब्ध कराकर उनके खाते में 1500 रुपए डलवाए गए हैं। इसी तरह 131 गांव में वैक्सीनेशन का काम किया जा रहा है।

जिन्होंने अपनों को खोया वह समझेंगे कीमत

इस अवसर पर अतिथियों एवं पत्रकार साथियों का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए वरिष्ठ पत्रकार अनिल शर्मा ने कहा कि ऑक्सीजन की कमी के कारण जिन परिवारों ने अपनों को खोया है, वह इसकी कीमत समझेंगे। इस नेक काम की शुरुआत झाँसी में हुई है। वह उरई से चलकर अपने सहयोगी विकाश गुप्ता के साथ कार्यक्रम में सम्मिलित हुए।

ये रहे उपस्थित

इस अवसर पर परमार्थ संस्था के कार्यक्रम प्रबंधक शिवानी सिंह, सतीश चंद्र, मेहताब, मानवेंद्र, शैलेंद्र, उपेंद्र, उपासना, चाइल्डलाइन के कोऑर्डिनेटर अमरदीप उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *