खुशखबरी, नहीं मिला कोई भी कोरोना संक्रमित

बाँदा : कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में शनिवार पहला दिन रहा जब बाँदा में एक भी पॉजिटिव केस सामने नहीं आया। सात रोगियों ने कोरोना संक्रमण से जंग जीती। अब जिले में 49 सक्रिय केस बचे हैं।

सीएमओ डॉ. एनडी शर्मा ने बताया कि काफी राहत की बात है कि शनिवार को एक भी संक्रमण का मामला सामने नहीं आया। रोजाना की तरह करीब 27 जांचें हुईं। बताया कि कोविड कर्फ्यू का असर रहा कि कोरोना संक्रमण की चेन जिले में टूटी। ऐसे ही शहरी सतर्कता, मास्क का प्रयोग और कोविड प्रोटोकॉल फालो करते रहें तो आगे संक्रमण पनपने नहीं पाएगा।

उन्होंने बताया कि संक्रमण की तीसरी लहर की आशंका है। इसको लेकर बहुत ही सतर्क रहने की जरूरत है। भीड़भाड़ से बचें। बिना मास्क घर से न निकलें। कोरोना की दूसरी लहर में जिले में 104 मरीजों की जानें गईं। अब तक जिले में 10704 संक्रमण के मामले सामने आए। इसमें 10521 मरीज ठीक हो चुके हैं।

बंद रहे बाजार, सड़कों पर भी पसरा दिखा सन्नाटा

वीकेंड लाक डाउन के पहले दिन शनिवार को शहर, गांव व कस्बों में सभी जगहों पर बंदी रही। सिर्फ जरूरत का सामान जैसे दूध, दवा और फलों की ही बिक्री हुई। सभी बाजारों में सन्नाटा रहा।

गली मोहल्लों की दुकानें भी बंद रहीं। शंकर गुरु चौराहा में महेश्वरी देवी, सब्जी मंडी, स्टेशन रोड आदि सभी स्थानों पर बंदी रही। अस्पतालों के आसपास स्थित दवाओं की दुकानों पर भीड़ समाजिक दूरी के साथ नजर आई। एक दो स्थानों पर फल और दूध की दुकानें खुलीं। शनिवार को ज्यादा टोका टाकी भी नहीं हुई। बस अड्डों और रेलवे स्टेशन पर भी रोज की अपेक्षा काफी कम लोग ही दिखाई दे रहे थे।

प्रशासन और पुलिस के अधिकारी सड़कों पर निकले और जो भी मिला उसे घर में रहने की नसीहत देते रहे। इसी तरह बबेरू में भी बाजार बंद रहे। ठेले और खोमचे वाले भी नहीं दिखे। प्रशासन के निर्देश पर सिर्फ जरूरत के सामान की बिक्री की गई। डीएम का कहना है कि सभी लोगों को ऐसे कठिन वक्त पर अपने घरों में ही रहना चाहिए। बीमारी से बचने का सबसे बेहतर उपाय भी यही है कि बिना जरूरी काम के बाहर न निकला जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *