बुन्देलखण्ड में किये गए प्रयासों को साझा करने लन्दन जायेंगे डॉ संजय सिंह

हाउस ऑफ़ लार्ड लन्दन में 7 जून को परमार्थ संस्था द्वारा पिछले 27 वर्ष में किये गए कार्यों कि प्रस्तुति देंगे डॉ संजय सिंह

उरई/जालौन (अनिल शर्मा)। आपको बता दें कि परमार्थ संस्था जो मध्यप्रदेश एवं उत्तर प्रदेश के बुन्देलखण्ड क्षेत्र में पिछले लगभग ढाई दशक से अधिक समय से जल संरक्षण एवं आजीविका संसाधनों के संवर्धन हेतु काम कर रहा है। संस्थान के द्वारा किये गए जल संरक्षण के कार्यो में जिनमे विशेष तौर से चंदेल कालीन तालाब, नदी पुनर्जीवन, जलवायु अनुकूलन खेती,जल सहेली जैसे अभिनव प्रयोगों को रखने के लिए ब्रिटिश सरकार द्वारा हाउस ऑफ़ लॉर्ड्स में डॉ संजय सिंह को आमंत्रित किया गया है जहाँ संजय अब तक किये गए कार्यों का प्रस्तुतीकरण रखेंगे।

 

यह पहला अवसर है जब बुन्देलखण्ड जैसे क्षेत्र से कोई व्यक्ति अपने कार्यों का प्रस्तुतीकरण हाउस ऑफ़ लार्ड में देगा। भारत में भी बहुत कम लोगों को यह अवसर प्राप्त हुआ है। इस दौरान संजय वैश्विक स्तर पर बढ़ रहे तापमान, बाढ़ , सूखा और उनके कारणों एवं समाधान पर अपनी संस्तुतियां देंगे। राजस्थान के बारां जिले जहाँ पर पिछले दिनों वर्ष 2002-2005 के दौरान हुए सूखे और अकाल के कारण पूरी तरह से जंगल विहीन और नंगे पहाड़ियों जैसा हो गया था , उस इलाके को हरा-भरा करने के लिए रिवाईवल ऑफ़ बारां में परमार्थ संस्था ने अभिनव प्रयोग किया गया है। इन प्रयोगों में अब तक किये गए अनुभवों को हाउस ऑफ़ लार्ड लन्दन में प्रस्तुत किया जायेगा।

 

इस कार्यक्रम कि मुख्य आयोजिका मिनी जैन ने बताया कि भारत में बढ़ रहे तापमान एवं वैश्विक जलवायु परिवर्तन के बढ़ते प्रभावों से पूरी दुनिया चिंतित हैं। आज दुनिया का सबसे बड़ा देश भारत है इसको ध्यान में रखते हुए वहां समस्याओं के समाधान को समझने के लिए डॉ संजय को लन्दन में आमंत्रित किया गया है। इस दौरान ब्रिटेन के मंत्री, सांसद एवं विशेष तौर से आमंत्रित व्यक्ति उपस्थित होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *