प्रसव उपरांत परिवार नियोजन के साधन अपनाने पर जोर

सभी इकाइयों पर दी जा रही परिवार नियोजन की सुविधाएं
माह की 21 तारीख को मनाया जाएगा खुशहाल परिवार दिवस

झाँसी : जनपद में ओपीडी शुरू होने के साथ ही परिवार नियोजन संबंधी सुविधाएं भी अब सभी चिकित्सा इकाइयों पर मिल जाएंगी। पहले इच्छुक दंपति ही सेवा के लिए आ रहे थे, किन्तु अब ओपीडी के माध्यम से उन्हें परिवार नियोजन के साधनों के प्रति जागरूक किया जाएगा। साथ ही प्रसव के लिए आई महिला को परिवार नियोजन के अंतराल साधन प्रसव उपरांत आईयूसीडी (पीपीआईयूसीडी) को अपनाने के लिए प्रेरित किया जाएगा। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, उत्तर प्रदेश के द्वारा सभी मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को पत्र के माध्यम से निर्देश जारी किए गए कि प्रसव के उपरांत परिवार नियोजन संबंधी सेवाओं को सुदृढ़ किया जाए।

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एनके जैन ने बताया कि वर्तमान में देश कोविड जैसी महामारी से युद्ध लड़ रहा है। ऐसे में हमें नहीं भूलना चाहिए कि देश कई वर्षों से जनसंख्या विस्फोट से भी जूझ रहा है। भारत में लगभग 74 प्रतिशत महिलाएं प्रसव के तुरंत बाद परिवार नियोजन संबंधी विधि अपनाना चाहती हैं। लेकिन, सही जानकारी न होने के कारण वह ऐसा नहीं कर पाती।

लगभग 30 प्रतिशत महिलाएं ऐसी हैं, जिनके पहले प्रसव के 24 माह के बाद ही दूसरा बच्चा हो जाता है। शिशु और माता के बेहतर स्वास्थ्य के लिए दो बच्चों के बीच कम से कम 3 साल का अंतर जरूरी है। ऐसे में यह बहुत जरूरी हो जाता है कि उन्हें परिवार नियोजन के साधनों के बारे में पता होना चाहिये। कोविड के समय में इन सुविधाओं पर थोड़ा प्रभाव पड़ा था। अब फिर से कोविड प्रोटोकाल के साथ परिवार नियोजन संबंधी सेवाएं शुरू की जा रही हैं।

जिला कार्यक्रम प्रबन्धक ऋषिराज ने बताया कि फिक्स डे सर्विस के तहत प्रत्येक सोमवार को अंतराल दिवस मनाया जाएगा। साथ ही माह की 21 तारीख को खुशहाल परिवार दिवस मनाया जाएगा। चिकित्सा इकाइयों पर तैनात परिवार नियोजन काउन्सलर एवं सेवा प्रदाता प्रसव को आई महिला की काउंसिलिंग कर उसे पीपीआईयूसीडी का प्रयोग करने के लिए प्रोत्साहित करे।

फ्रंट लाइन वर्कर आशा और एएनएम के द्वारा योग्य और इच्छुक लाभार्थियों को उनकी इच्छानुसार परिवार नियोजन के अस्थायी साधन जैसे कंडोम, छाया, ओसीपी, आपातकालीन गर्भ निरोधक गोली का वितरण सुनिश्चित किया जाएगा। सेवाएं दिए जाने के उपरांत आरसीएच पोर्टल पर दर्ज किया जाना सुनिश्चित किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *