शैक्षणिक गुणवत्ता सुदृढ कर परिषदीय स्कूलों को शिक्षा का आदर्श मंदिर बनाना होगी प्राथमिकता : बीएसए

बी0के0शर्मा ने संभाला चित्रकूट के बीएसए का पदभार
चित्रकूट (रतन पटेल)। नवागत जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी बी0के0 शर्मा का बुधवार को समाजसेवियों ने स्वागत किया। सेवा भारती के जिला महामंत्री राजकिशोर शिवहरे, मीडिया प्रभारी शंकर यादव, समाजसेवी बीपी पटेल आदि ने गुलदस्ता भेंट कर चित्रकूट के नए बीएसए को बधाई दी और जिले की शैक्षिक व्यवस्था पर चर्चा की।इस मौके पर बीएसए श्री शर्मा ने बताया कि परिषदीय विद्यालयों में शैक्षिक गुणवत्ता को सुदृढ कर शिक्षा का आदर्श मंदिर बनाना उनकी पहली प्राथमिकता होगी।उन्होने बताया कि जिले के सभी शिक्षकों को स्कूलों की व्यवस्था सुधारने के लिए एक माह का समय दिया गया है। इसके बाद विद्यालयों के निरीक्षण में खामियां पाये जाने पर कार्रवाई की जायेगी।

बुद्धवार को चित्रकूट जिले के नए बीएसए बी0के0शर्मा इससे पहले एससीईआरटी लखनऊ में सहायक उप शिक्षा निदेशक थे, 2 जुलाई को चित्रकूट में बीएसए का पद भार संभाला है। उन्हें शिक्षा विभाग के विभिन्न पदों में रहकर कार्य करने का बेहतरीन अनुभव है। उन्होंने 31 जनवरी 2006 को राजकीय इंटर कॉलेज अलीगढ़ में प्रधानाचार्य के पद पर नियुक्ति पाई थी , 4 जुलाई 2015 से 9 फरवरी 2016 तक जिला विद्यालय निरीक्षक मेरठ रहे, फिर 10 फरवरी 2016 से 18 अगस्त 2017 तक प्रभारी जिला विद्यालय निरीक्षक हापुड़ में भी उन्हें कार्य करने का अनुभव मिला , 19 अगस्त 2017 से 10 अक्टूबर 2017 तक शिक्षा निदेशक बेसिक कार्यालय लखनऊ में कार्य किया ,11 अक्टूबर 2017 से 9 अप्रैल 2018 तक सहायक उप शिक्षा निदेशक एससीईआरटी लखनऊ में रहे , 10 अप्रैल 2018 से 5 अगस्त 2019 तक जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी उन्नाव बने , 6 अगस्त 2019 से 12 अक्टूबर 2021 तक एक बार फिर उन्हें शिक्षा निदेशक कार्यालय बेसिक में कार्य करने का अवसर मिला, 11 अक्टूबर 2021 से 1 जुलाई 2022 तक डायट कानपुर देहात में वरिष्ठ प्रवक्ता के पद पर रहे। फिर वहां से 2 जुलाई 2022 से 5 जुलाई 2023 तक जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी बुलंदशहर में शासन द्वारा उन्हें तैनाती दी गई। इस दौरान उन्होंने अपने शैक्षिक कार्य अनुभव के आधार पर शासन की मंशानुरूप काम करके ख्याति अर्जित की है। लंबे अनुभव को देखते हुए शासन ने उन्हें आकांक्षी जनपद चित्रकूट का बीएसए नियुक्त किया है।जब से वह यहां आए विभागीय छवि को साफ-स्वच्छ बनाने में लगे हुए हैं।शिक्षकों से सीधा संवाद स्थापित कर शैक्षिक गुणवत्ता को बेहतर बनाने में जुटे हुए हैं।

इस मौके पर बीएसए ने कहा कि शासन की मंशानुरूप बेसिक शिक्षा में गुणात्मक सुधार करने की दिशा में वह पूरी मुस्तैदी के साथ जुटेंगे । समय से शिक्षक स्कूल पहुंचे और पूरे समय विद्यालय में रहकर बच्चों को गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा दें और निर्धारित समय तक विद्यालय में रहें। इसी के साथ-साथ उन्होंने यह भी कहा कि शिक्षकों की समस्याओं पर भी उनका पूरा ध्यान रहेगा ।उनके कार्यालय पर किसी भी शिक्षक के कोई भी प्रकरण लंबित नहीं रहेंगे। शिक्षकों को अनावश्यक बीएसए कार्यालय के अब चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे ।यदि किसी शिक्षक की कोई समस्या है तो विद्यालय समय के बाद उनसे संपर्क कर सकते हैं ,समस्या का समाधान किया जाएगा। बीएसए श्री शर्मा ने यह भी कहा कि शासन की जो भी योजनाएं विभाग में चल रही हैं उनको बाखूबी क्रियान्वयन कराया जाएगा।

प्रधानाध्यापकों को निर्देश दिए हैं कि एक माह के अंदर विद्यालय की सभी गतिविधियों, विद्यालय का शैक्षिक वातावरण, विद्यालय के अभिलेख आदि समस्त कार्यों को दुरुस्त करने को एक माह की मोहलत दी है । इसके बाद वह निरीक्षण कर जो कमियां जहां पाएंगे , संबंधित के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी। इस मौके पर वरिष्ठ लिपिक प्रदीप बाजपेयी आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *