सबके सहयोग से ही मिलेगी टिड्डी दल के हमले से राहत: जिलाधिकारी

अब तक किया जा चुका 40 लाख टिड्डियों का खात्मा,केन्द्र की टीम भी रखे है नजर
झांसी। कोरोना कहर से बचने के लिए देश में चल रहे लाॅकडाउन 4 के दौरान अचानक जनपद में टिड्डी दल के हमले को लेकर प्रशासन सर्तक हो गया है। बीती रात प्रशासन की विभिन्न टीमों ने करीब 40 लाख टिड्डियों को मार गिराया है। साथ ही जिलाधिकारी ने इस संदर्भ में बैठक आयोजित कर सभी अधीनस्थ अधिकारियों को सतर्क रहते हुए टिड्डी दल को समाप्त करने पर भी चर्चा की। उन्होंने यह भी बताया कि समस्त निगरानी समितियां क्षेत्र में टिड्डी दल की जानकारी तत्काल राहत कंट्रोल रूम में दें ताकि प्रभावी कार्रवाई की जा सके। ऐसे स्थल जहां से पेयजल आपूर्ति की जाती है वहां तीव्र ध्वनि करते हुए टिड्डी दल को नुकसान करने से बचाया जाए। उनके मूवमेंट पर दृष्टि बनाए रखें। टिड्डी दल जहां विश्राम करता है,उसकी जानकारी तुरंत उपलब्ध कराएं ताकि कीटनाशक दवाओं का छिड़काव कर उन्हें मारा जा सके। जनपद में यदि टिड्डी दल द्वारा 30 प्रतिशत से अधिक फसल नुकसान होता है तो तत्काल टीआर 27 से किसानों को राहत राशि उपलब्ध कराई जाएगी। यह निर्देश जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने कैंप स्थित सभागार में जनपद में टिड्डी दल के विचरण और उनसे निपटने हेतु रणनीति तैयार करते हुए दिए।
जिलाधिकारी ने पहुंज बांध, सुकवां दुकवां बांध, पारीछा बांध, बड़वार झील, गढ़मऊ झील, बरूआसागर तालाब व अन्य क्षेत्र जहां पीने का पानी सप्लाई होता है वहां संबंधित एसडीएम साउंड सिस्टम के माध्यम से टिड्डी दल को आने न दें। उन्होंने कहा कि टिड्डी दल शाम के समय ठण्डे में ही सक्रिय होता है तथा रात को विश्राम करने कहीं रुकता है। जहां दल विश्राम करें उसकी तत्काल सूचना दें। ताकि उन्हें रसायन दवा छिड़क कर मारा जा सके। उन्होंने यह भी बताया कि बीती रात रणनीति के अनुसार जनपद में लगभग 40 लाख टिट्डियो को मारा जा चुका है। इस मौके पर सीडीओ निखिल टीकाराम फुंडे, एडीएम राम अक्षयवर चैहान, निदेशक ग्रासलैंड डॉक्टर विजय कुमार यादव, डीडी कृषि कमल कटियार, पीपीओ विवेक कुमार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

प्रधान राहत कंट्रोल रुम पर दे टिड्डी दल की जानकारी
उन्होंने ग्राम स्तर, ब्लॉक स्तर पर गठित निगरानी समितियों के साथ ही ग्राम प्रधान को टिड्डी दल के मूवमेंट की जानकारी राहत कंट्रोल रूम पर देने को कहा। उन्होंने बताया कि कंट्रोल रुम के नंबर 0510-2371100, 2371101, 2371199 पर तत्काल सूचना देकर इनसे बचने का उपक्रम करें।

सभी की सतर्कता से ही बचा जा सकेगा
उन्होंने कहा कि सभी की सतर्कता से ही इनके प्रभाव से बचा जा सकता है। टिड्डी दल की सूचना सही समय पर उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने कृषि विभाग की टीम को भी यही निर्देश दिए कि टिड्डी दल के मूवमेंट पर नजर रखें ताकि जनपद में जायद की फसल, सब्जियों आदि व खेतों को नुकसान से बचाया जा सके, किसान भाई भी सतर्क रहें और अपने खेतों की रखवाली करें और यदि टिड्डी दल आपके खेत को नुकसान पहुंचाता है, तो उससे बचने के लिए ध्वनि का इस्तेमाल करें। उन्होंने निगरानी समिति को निर्देश देते हुए कहा कि यदि टिड्डी दल आपके क्षेत्र में विश्राम करता है तो उस पर रसायन छिड़काव कर उन्हें मारा जा सकता है।
भारत सरकार के विशेषज्ञों का दल भी रख रहा है नजर
जिलाधिकारी श्री आन्द्रा वामसी ने कहा कि टिड्डी दल से निपटने के लिए स्थानीय दल के साथ भारत सरकार नई दिल्ली से आया विशेषज्ञों का दल भी लगातार मूवमेंट पर नजर बनाते हुए उससे निपटने की तैयारी कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *