यूपी-एमपी बॉर्डर पर रोके गए प्रवासी मजदूरों का हंगामा

किलोमीटरों का जाम लगाकर की नारेबाजी, कहा हमें घर जाने दो
झांसी। औरैया में हुई भीषण सड़क दुर्घटना के बाद शासन के निर्देश पर प्रवासी मजदूरों को जनपद के बाॅर्डर पर रोक लिया गया। इस पर सभी मजदूर आक्रोशित हो उठे। उन्होंने भरी दोपहर में जमकर हंगामा काटा। हंगामे के चलते किलोमीटरों तक हाईवे पर दोनों ओर जाम लग गया। उनकी मांग थी कि उन्हें रोका न जाए। उन्हें घर जाने दिया जाए। इस पर पुलिस ने उन्हें अपनी पूरी जानकारी दर्ज कराने के बाद जाने की अनुमति देने का आश्वासन दिया। हालांकि यह हंगामा देर शाम करीब 5 बजे तक जारी रहा। हालांकि समाचार लिखे जाने तक सारे वाहनों को निकालने की कवायद जारी थी।
लाॅकडाउन के द्वितीय चरण शुरु होने के साथ ही महाराष्ट्र,गुजरात और मध्य प्रदेश से पलायन करके वापस अपने घरों की ओर आ रहे प्रवासी मजदूरों का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है। शनिवार को भी यह जारी था। औरैया में हुई भीषण सड़क दुर्घटना के बाद पुलिस व प्रशासन को मजदूरों को रोके जाने के आदेश दिए गए थे। संभवतः इसी के चलते यूपी एमपी बाॅर्डर स्थित रक्सा के समीप रोक दिया गया। दोपहर के समय चिलचिलाती धूप में मजदूरों का बुरा हाल था। ट्रक उन्हें गरम तबे की तरह लग रहे थे। उन्हें जब करीब दो घंटे हो गए तो हजारों की संख्या में मजदूर गर्मी के मारे बिलबिला उठे। सभी ने हाईवे पर खड़े होकर नारेबाजी शुरु कर दी। यह देख प्रशासन और उपस्थित पुलिस अधिकारियों के हाथ पांव फूल गए। पुलिस अधीक्षक नगर राहुल श्रीवास्तव ने दल बल के साथ मोर्चा संभालते हुए सभी को अपनी गाड़ियों में बैठने को कहा। उन्होंने सभी को आश्वस्त किया कि उनकी पूरी जानकारी लिखे जाने के बाद उन्हें जाने दिया जाएगा। हाईवे पर जाम लगने से कई एंबुलेंस फंस गई। प्रशासन कड़ी मशक्कत करने के बावजूद जाम खुलवाने में नाकाम साबित होता रहा। थक हार कर प्रशासन को मजदूरों की बात सुननी ही पड़ी और केवल सूचना दर्ज कराते हुए सभी को निकाला गया। जाम का दौर पूरे दिन में दो बार रहा। शाम पांच बजे तक यही हाल बना रहा। हालांकि समाचार लिखे जाने तक सारे वाहन वहां से निकाल दिए गए थे। कुछेक वाहन ही नजर आ रहे थे। मौके पर डीएम और एसएसपी के अलावा भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद रहा।
मजदूर बोले,चार दिन से चल रहे भूखे-प्यासे हमें घर जाने दो
सीएम योगी के आदेश के बाद जनपद प्रशासन ने सतर्कता बरती और ट्रकों में भरकर जा रहे प्रवासी मजदूरों को बॉर्डर पर रोक दिया। रोके जाने से नाराज मजदूरों ने हंगामा काटते हुए प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। मजदूरों का कहना था कि हमें घर जाना है। हम दो घंटे से इस भीषण गर्मी में खड़े हैं। चार दिन से निकले हैं। हमें इतना रोका जाएगा तो भला हम कैसे घर पहुंचेंगे। पानी पीकर काम चला रहे हैं। तबियत खराब हो रही है। खाने को नहीं है। ऐसी गर्मी में हमें क्यों रोक रहे हैं। हमें घर जाने दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *