मजदूर सड़क पर न दिखें भूखे,वाहनों से छोड़ें गंतव्य तक: सांसद

सख्त हुए जिलाधिकारी ने सबकों बांटे कार्य,अनुपस्थित अधिकारियों का काटा वेतन
झांसी। कोरोना के कहर की मार झेल रहे विभिन्न प्रदेशों से आ रहे मजदूरों को भोजन कराकर उनके गंतव्य तक भेजे जाने के लिए शुक्रवार को विकास भवन में सांसद व विधायकों की उपस्थिति में एक बैठक आयोजित की गई। इसमें सांसद अनुराग शर्मा ने अन्य प्रदेशों से आने वाले प्रवासी श्रमिक व कामगारों को भूखे पेट न जाने देने व सड़क पर किसी भी तरह उन्हें पैदल चलने से रोकने और गंतव्य तक वाहनों से छोड़े जाने की व्यवस्था व्यवस्था की बात कही। यह बैठक जनपद के थाना रक्सा क्षेत्र स्थित मध्य प्रदेश-उत्तर प्रदेश बॉर्डर पर विभिन्न राज्यों से वाहनों एवं पैदल आ रहे श्रमिक व कामगारों की व्यवस्था को लेकर प्रशासनिक अधिकारियों के साथ थी। जिलाधिकारी ने बैठक में अनुपस्थित रहे आधा दर्जन से अधिक अधिकारियों पर सख्ती दिखाते हुए उनके वेतन काटने के निर्देश दे डाले। साथ ही बाॅर्डर पर व्यवस्थाओं की जिम्मेदारी भी विभिन्न अधिकारियों को सौंपी।
सांसद अनुराग शर्मा ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा बेहतर तालमेल के साथ कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जनपद झांसी में आने वाले श्रमिक व कामगारों को अन्य प्रदेशों ने बिना कोई सहायता के छोड़ दिया है। झांसी में सभी को पर्याप्त भोजन, पानी की व्यवस्था है और ऐसे श्रमिक व कामगार जो पैदल हैं उन्हें वाहनों से उनके घर तक पहुंचाए जाने की व्यवस्था भी जिला प्रशासन द्वारा की जा रही है। इस मौके पर विधायक बबीना राजीव सिंह पारीछा, सीडीओ निखिल टीकाराम फुंडे, नगर आयुक्त आयुक्त मनोज कुमार सिंह, एडीएम राम अक्षयवर चैहान, एसपी देहात राहुल मिठास, एसपी सिटी राहुल श्रीवास्तव, एसडीएम सदर संजीव कुमार मौर्य, डॉ नीति शास्त्री सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।
प्राईवेट वाहनों में आ रहे मजदूरों को भोजन देकर व डाक्यूमेंटशन कर आगे बढ़ाएं
जिलाधिकारी ने कहा कि रक्सा बॉर्डर पर अधिक फोकस किया जाएगा क्योंकि यह अन्य प्रदेश से आने वाले श्रमिक व कामगारों का गेटवे है। उन्होंने स्पष्ट कहा कि पैदल चलने वालों को रोका जाए, उन्हें पर्याप्त भोजन पानी उपलब्ध हो। उन्हें बस द्वारा उनके घर तक पहुंचाया जाएगा। बॉर्डर पर आने वाले ट्रक, मैजिक, ऑटो व अन्य वाहनों को रोका नहीं जाएगा। ऐसे वाहन में सवार श्रमिक व कामगारों को भोजन, पानी उपलब्ध कराते हुए आगे जाने दिया जाए और उनका डॉक्यूमेंटशन किया जाए।
नायब तहसीलदार को खाद्यान उपलब्ध कराने के निर्देश
जिलाधिकारी ने अन्य प्रदेश से आने वाले श्रमिक व कामगारों के लिए की जा रही सारी व्यवस्थाओं को अंतिम रूप देते हुए उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित किया कि सभी अपने दायित्वों का निर्वाहन सुचिता व गंभीरता से करेंगे। उन्होंने रक्सा बॉर्डर पर सामुदायिक रसोई के संचालन को और बेहतर बनाए जाने के लिए नायब तहसीलदार को खाद्यान्न उपलब्ध कराए जाने के लिए निर्देश दिए ताकि वह रसोई लगातार संचालित रहे।
लोक निर्माण विभाग को पांडाल व बैरिकेटिंग की व्यवस्था सौंपी
रक्सा बॉर्डर पर लोक निर्माण विभाग को निर्देश देते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि जिस प्रकार भोजला मंडी में पांडाल व बैरीकेटिंग की व्यवस्था की गई थी, ठीक उसी प्रकार यहां भी सेटअप तैयार किया जाए और कॉटेज तैयार किए जाएं। जिसमें अस्थाई अस्पताल, सामुदायिक रसोई व प्रशासनिक अधिकारी रहेंगे। इसके अतिरिक्त शिवानी तिराहा, सिमराहा पर ही पंडाल की व्यवस्था हो ताकि पैदल चलने वालों को रोका जा सके। नगर निगम क्षेत्र में प्रॉपर सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करें। पेयजल हेतु टैंकर की उपलब्धता भी सुनिश्चित की जाए, साथ ही अस्थाई शौचालय की भी व्यवस्था हो।
दो चिकित्सीय टीम रक्सा बाॅर्डर पर तैनाती के निर्देश
जिलाधिकारी ने सीएमओ को निर्देश देते हुए कहा कि रक्सा बॉर्डर पर दो चिकित्सीय टीम 3 शिफ्टो में हमेशा तैनात रहे। साथ ही एंबुलेंस की उपलब्धता सुनिश्चित रहे। उन्होंने एआरटीओ को बॉर्डर पर लगभग 100 बसों को स्टैंडबाई पर रखे जाने के निर्देश दिए। आरएम रोडवेज बसों की उपलब्धता सुनिश्चित करें ताकि पैदल आने वालों को उनके घर तक पहुंचाया जा सके। उन्होंने कहा कि प्रवासी श्रमिक व कामगारों को कोई असुविधा न हो यह सभी सुनिश्चित करेंगे।
सामुदायिक रसोई में लगातार वितरित हो भोजन
रक्सा बॉर्डर में सामुदायिक रसोई में लगातार भोजन वितरित किया जाए। किसी को भी भूखा भटकने नहीं दिया जाएगा, यह कार्यक्रम लगभग माह मई तक संचालित रहेगा। प्रतिदिन 20 हजार फूड पैकेट की व्यवस्था करें। उन्होंने सड़क दुर्घटना रोकने के लिए सड़क की एक लेन में ट्रक व दूसरी लेन में ऑटो, टैक्सी आदि चलने का सुझाव दिया।
आधा दर्जन अनुपस्थित अधिकारियों की वेतन काटने के निर्देश
जिलाधिकारी ने बैठक में रक्सा बॉर्डर पर तैनात किए गए लगभग आधा दर्जन अधिकारियो को अनुपस्थित रहने पर वेतन रोके जाने के निर्देश दिए और कहा कि लापरवाही व कार्य संपादन में शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *