बुुधवार से कोरोना वायरस की जांच होगी मेडिकल काॅलेज में

झांसी। अब बुन्देलखण्ड वासियों को दो दिन तक अपने सैंपल के परिणाम आने का इंतजार नहीं करना होगा। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए झांसी समेत उत्तर प्रदेश में 10 लैब अपग्रेड की जा रही है। मॉलीकुलर लैब बायोसेफ्टी लेवल 3 पर अपग्रेड हो रही है। महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कॉलेज को भी इसमें शामिल किया गया है। अगले 24 घंटों में यहां पर भी जांच शुरू हो जाएगी। इससे वीरांगना भूमि झांसी समेत पूरे बुंदेलखंड को राहत मिलने वाली है।
कोरोना वाॅयरस के कहर से निपटने के लिए केन्द्र व राज्य सरकार हर तरह से तैयार है। इसके चलते लाॅकडाउन के शुरुआती दौर में ही जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने यह बता दिया था कि करीब 10 दिन के अन्दर ही बुन्देलखण्ड के लिए मेडिकल काॅलेज में कोरोना वाॅयरस सैंपल की जांच के लिए लैब तैयार कर ली जाएगी। इसकी घोषणा होने के बाद से बुन्देलखण्ड के लोगों ने राहत की सांस ली थी। इस प्रकार अब उत्तर प्रदेश में कुल 15 लैब में जांच होने लगेगी। इसके लिए इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने अनुमति दे दी है। इसका जिक्र बीते रोज जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने अपने व्हाट्सएप ग्रुप पर भी दी थी। उन्होंने लिखा था कि आगामी बुधवार से लोगों को लखनऊ से सैंपल की रिपोर्ट का इंतजार नहीं करना होगा। यही नहीं आगामी दिनों में 9 और लैब खोलने का प्रस्ताव भी दिया जा चुका है। प्रस्ताव पर मुहर लगते ही 24 लैब काम करने लगेंगे। इसके लिए कोविड-19 फंड से बजट दिया जा रहा है। फिलहाल संजय गांधी पीजीआई लखनऊ, केजीएमयू लखनऊ, एलएलआरएम मेडिकल कॉलेज मेरठ, एमएलएन मेडिकल कॉलेज प्रयागराज, एमएलबी मेडिकल कॉलेज झांसी, बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर, यूपी यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिकल साइंस सैफई, जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज कानपुर, जेएन मेडिकल कॉलेज अलीगढ़ और लखनऊ की निजी लैब त.उ.स. मेहरोत्रा शामिल है, इसके अलावा पांच नई लैब डॉ राम मनोहर लोहिया आयुर्वेदिक संस्थान लखनऊ, सुपर स्पेशलिटी संस्थान नोएडा, आईवीआरआई बरेली, आगरा मेडिकल कॉलेज गांधी मेडिकल कॉलेज शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *