बीयू: बीए आॅनर्स हिन्दी के विद्यार्थियों की परीक्षा को लेकर हुई चर्चा कला संकाय ने की ऑनलाइन बैठक

झांसी। बुंदेलखंड विश्वविद्यालय कोरोना से उत्पन्न समस्यओं से निपटने के लिए लगातार प्रयासरत है। स्थिति के सुधरने से पहले ही अगर परीक्षा को लेकर रूपरेखा तैयार कर ली जाये तो छात्रों का बहुमूल्य समय बचाया जा सकता है। बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय के कला संकायाध्यक्ष प्रो सीबी सिंह ने कला संकाय के विभिन्न विभागों के समन्वयकों एवं शिक्षकों से संवाद स्थापित कर लॉक डाउन की स्थिति पर चर्चा की। इसमें कला संकाय के विभिन्न विभागों के साथ बीए ऑनर्स के विद्यार्थियों की समस्याओं के समाधान एवं उनकी कक्षाओं की प्रगति के विषय में जानकारी प्राप्त की गई।
जूम संवाद में समस्त शिक्षकों को संबोधित करते हुए प्रो सी बी सिंह ने कहा कि बुंदेलखंड की परंपरा रही है कि प्राकृतिक, राजनैतिक, सामाजिक आपदाओं के समय बुंदेलखंड के निवासियों ने अपनी सामाजिक जिम्मेदारियों का निर्वहन किया है। हर तरह की आपदा को मात दी है। कोविड 19 की आपदा में भी सभी अपने उत्तरदायित्वों को निभा रहे हैं। इसी क्रम में विश्वविद्यालय के शिक्षक भी तकनीकी के विभिन्न साधनों का प्रयोग कर विद्यार्थियों का कोर्स पूर्ण कराएं। उन्होंने कहा कि शिक्षकों का नैतिक दायितव है कि विद्यार्थियों की मानसिक समस्याओं का भी यथासंभव निदान करें। इस दौरान सभी शिक्षकों ने अपने अपने पेपर की प्रगति के विषय में संकायाध्यक्ष को अवगत कराया। जूम संवाद के बाद सुप्रसिद्ध फिल्म अभिनेता इरफान खान एवं ऋषि कपूर, फूड टेक व विभागाध्यक्ष डॉ डी के भट्ट के पिता जी निधन पर शोक व्यक्त किया गया। इस अवसर पर डॉ मुन्ना तिवारी, डॉ पुनीत बिसरिया, डॉ आलोक वर्मा, डॉ मीनाक्षी सिंह, डॉ मुहम्मद नईम, डॉ नीता यादव, डॉ श्वेता पांडेय, डॉ अतुल गोयल, डॉ अनूप कुमार, डॉ यतीन्द्र मिश्रा, डॉ अंकिता जैस्मीन लाल, डॉ सुनील त्रिवेदी आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *