पालघर के दोषी तमाशबीन पुलिसकर्मियों पर हो कड़ी कार्रवाई: अरविंद वशिष्ठ

झांसी। महाराष्ट्र के पालघर में पुलिस की उपस्थिति में एक विशेष समुदाय की बेकाबू भीड़ द्वारा एक अखाड़े के दो साधुओं की निर्मम हत्या की शहर कांग्रेस कमेटी ने निंदा की। शहर अध्यक्ष अरविंद कुमार वशिष्ठ की अध्यक्षता में आयोजित गोष्ठी कर संतों की हत्या पर कड़ी आपत्ति जताई। उन्होंने रक्षकों के सामने हुई इस हत्या का दोषी पुलिसकर्मियों को मानते हुए उन पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है।
सभा में भारत सरकार के पूर्व मंत्री प्रदीप जैन आदित्य ने कहा कि यह घटना दिल दहला देने वाली है। जिस तरह से उनकी हत्या हुई है बेहद शर्मनाक है। हम उसकी कड़ी निंदा करते हैं। और दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग करते हैं। शहर अध्यक्ष अरविंद वशिष्ठ ने कहा कि पालघर की घटना में जिस तरह से जूना अखाड़े के साधुओं को निर्मम तरीके से मारा जाता है। उससे मानवता शर्मसार हुई है और सबसे अधिक शर्म की बात यह है कि वहां पर मौजूद पुलिसकर्मी तमाशबीन बन तमाशा देखते रहे और अपराधी असामाजिक तत्व घटना को अंजाम देते रहे। ऐसे दोषी तमाशबीन पुलिस वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाना चाहिए व घटना में शामिल अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। इस कार्रवाई से सबक लेते हुए भविष्य में इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो सके। कांफ्रेंस में शामिल राजेंद्र रेजा, डॉ विजय भारद्वाज, शंभू सेन, जितेन्द्र भदौरिया, अभिषेक दीक्षित, अनवर अली, अफसर खान आदि ने आक्रोश प्रकट कर कड़ी कार्रवाई की मांग की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *