कोरोना के बढ़ते मामलों पर प्रशासन ने पार्क किए प्रतिबंधित

झांसी। कोरोना के बढ़ते हुए मामलों से चिंतित प्रशासन अब फिर हरकत में आ गया है। जिलाधिकारी ने कन्टेनमेन्ट जोन में अभियान चलाकर सैंपल लिए जाने के निर्देश दिए हैं। सैंपल टीम के साथ पर्याप्त फोर्स भी उपलब्ध रखने व नान सिस्टेमेटिक मरीजों को एल-1 हॉस्पिटल बरुआसागर व बड़ागांव में शिफ्ट किए जाने को कहा है। यही नहीं भीड़भाड़ पर नियंत्रण करने के लिए नगर के सभी पार्क बंद करने को कहा गया है। साथ ही धार्मिक स्थलों पर अधिक भीड़ बिना सोशल डिस्टेंसिंग के पाए जाने पर कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं।
जिलाधिकारी आंद्रा वामसी ने विकास भवन सभागार में कोविड-19 के संबंध में बैठक लेते हुए जनपद वासियों से अपील की कि स्वयं बाहर आएं यदि बुखार, खांसी,जुखाम है तो जांच कराएं ताकि कोविड-19 से बचाव किया जा सके। लेकिन बेवजह बाहर निकलने पर परहेज करने को कहा है। उन्होंने कंटेनमेंट जोन में सख्ती बढ़ाने और अभियान चलाकर बेमतलब घूमने वालों पर कार्यवाही करने को कहा है। उन्होंने तालपुरा, बड़ा बाजार, सैयर गेट, वासुदेव मोहल्ला, सीपरी बाजार, पन्नालाल का हाता, अली गोल, आतिया तालाब, बिसात खाना, सुभाष गंज, मुकरयाना, गोला कुआं, इतवारी गंज सहित अन्य ऐसे मोहल्ले जहां कोविड-19 के पेशेंट हैं सभी घरों के प्रत्येक व्यक्ति का सैंपल लिए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मोहल्ले में लोगों को जानकारी दें कि खांसी सर्दी आदि होने पर तत्काल अस्पताल में जांच करें ताकि कोरोना वायरस से बचाव हो सके। नगर के सभी पार्कों को भी बंद किए जाने के निर्देश दिए। नगर में करोंदी माता मंदिर व बरुआसागर स्थित स्वर्गाश्रम मंदिर में अत्याधिक भीड़ होने पर उन्होंने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अगर नहीं किया जाता है तो कार्यवाही की जाएगी। इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी निखिल टीकाराम फुंडे, नगर आयुक्त मनोज कुमार सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर गजेंद्र कुमार निगम, एसपी सिटी राहुल श्रीवास्तव, एसडीएम सदर संजीव कुमार मौर्य सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।
क्या कहते हैं अब तक के आंकड़े
गौरतलब है कि अब तक जिले में कुल 209 मामले पाॅजिटिव हो चुके हैं। हालांकि इनमें से एक्टिव पाॅजिटिव 96 मामले हैं। वहीं 81 लोग स्वस्थ होने के बाद अब तक अपने घरों को जा चुके हैं। लेकिन सबसे चैकाने वाले आंकड़े मरने वालों के हैं। मरने वालों की संख्या इस समय झांसी में 22 जा पहुंची है। जो यह दर्शाती है कि करीब हर 10वें मरीज की मौत हो रही है। अब तक जनपद में कुल 9 हजार 164 सैंपल की जांच की गई है। इनमें से 491 सैंपल की रिपोर्ट अभी भी पेंडिंग है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *