कहीं तेज आंधी के साथ बारिस और ओले गिरे ,तो कहीं अंधड़ ने डाला डेरा

झांसी। रविवार की शाम जनपद में चहुंओर आफत की आंधी लेकर आई। इस आंधी के साथ कहीं-कहीं तेज बारिस और ओला वृष्टि भी हुई तो कहीं केवल धूल भरे अंधड़ ने सबकुछ धूलभरा कर दिया। यह आलम पूरे जनपद का रहा। इसका खास प्रभाव झांसी-कानपुर मार्ग पर देखने को मिला।
रविवार को सभी अक्षय तृतीया पर भगवान परशुराम के जन्मोत्सव को मनाने में मशगूल थे। उसी दौरान दोपहर बाद से ही आसमान में गहरे काले व धूलभरे बादल छाने लगे। शाम होते-होते इस माहौल ने आंधी का रुप ले लिया। झांसी- कानपुर राजमार्ग पर शहर छोड़ते ही पानी की बौछार शुरु हो गई। जिला मुख्यालय से महज 13 किमी की दूरी पर स्थित बड़ागांव में जोरदार आंधी आई। जबकि उससे आगे बढ़ते ही चिरगांव में जोरदार आंधी के साथ जमकर बारिस हुई साथ में ओलावृष्टि ने भी कोई कसर नहीं छोड़ी। यही हाल उससे आगे बढ़ने पर मोंठ,पूंछ आदि का था। लेकिन जनपद में गुरसरांय,गरौठा,मऊरानीपुर, बंगरा,बरुआसारग समेत बबीना आदि में इसका प्रभाव ज्यादा नहीं दिखा। यहां केवल धूंलभरी आंधी ने चारों ओर धूल भरा माहौल पैदा कर दिया। बताया जा रहा है कि बीते रोज गुरसरांय,गरौठा व उस क्षेत्र के गांवों में जहां तहां तेज बारिस हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *