अधेड़ की मौत,नैगेटिव आई कोविड रिपोर्ट

दो दिन पूर्व गंभीर हालत में बुखार और सांस फूलने की बीमारी के चलते हुआ था भर्ती
झांसी। बीते शाम मप्र के टीकमगढ़ जिले के एक अधेड़ को बुखार व सांस फूलने की बीमारी के चलते गंभीर स्थिति में उपचार के लिए मेडिकल काॅलेज में भर्ती कराया गया था। कोरोना के संदेह के चलते उसके उपचार के साथ सैंपल की जांच भी कराई गई थी। गुरुवार को दोपहर उसकी मौत हो गई। साथ ही उसकी कोविड सैंपल की रिपोर्ट भी नैगेटिव आई है। अधिकारियों ने बताया कि मृतक की बीमारी के लक्षण पूरे कोरोना वाॅयरस से मिल रहे थे,लेकिन उसे कोरोना पाॅजीटिव नहीं पाया गया है।
मेडिकल काॅलेज में कोविड-19 के सैंपल जांच के लिए प्रयोगशाला स्थापित हुए आज 6 दिन पूरे हो गए हैं। इसके चलते आज 6वें दिन 4 जनपदों के कुल 119 कोरोना संदिग्धों के सैंपल जांचे गए हैं। अभी तक सभी रिपोर्ट नैगेटिव आई हैं। जिला अधिकारी आन्द्रा वामसी ने गुरुवार की शाम बताया कि दो दिन पूर्व मप्र के टीकमगढ़ जनपद स्थित दिगौड़ा के ग्राम खदरी निवासी 50 वर्षीय रतीराम अहिरवार को 15 अप्रैल को उपचार हेतु मेडिकल काॅलेज में भर्ती कराया गया था। उस समय उसे तेज बुखार था और उसकी 5 दिनों से सांस भी फूल रही थी। उसकी गंभीर हालत को देखते हुए और आॅक्सीजन की बदतर हालत को देखते हुए उसे आईसीयू में भर्ती किया गया था। साथ ही उचित सावधानी बरतते हुए, कोविड परीक्षण के रक्त और स्वाब के नमूने भी उचित विश्लेषण के लिए भेजे गए थे। जिलाधिकारी ने बताया कि गुरुवार को करीब 2 बजे उसकी हृदयगति रुकने से मौत हो गई। इसके कुछ देर बाद ही इसकी आधिकारिक पुष्टि भी कर दी गई थी। उन्होंने बताया कि रक्त परीक्षण एवं अन्य रिपोर्ट में स्पष्ट रूप से मल्टीरोगन विफलता के साथ गंभीर सेप्टिसीमिया की व्याख्या करती है। जिलाधिकारी ने बताया कि बाद में कोविड लैब के टेस्ट परिणाम के अनुसार कोरोना नैगेटिव पाया गया है। उन्होंने बताया कि तमाम लक्षण के मिलने के बाद भी उक्त मृतक मरीज कोरोना नैगेटिव पाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *