आरोपी को जेल से रिहाई नहीं मिल सकी

झाँसी : शादी का झांसा देकर महिला के साथ शारीरिक संबंध बनाए जाने के बाद जान से मारने की धमकी के मामले में आरोपी को जेल से रिहाई नहीं मिल सकी। उसका जमानत प्रार्थना पत्र प्रभारी सत्र न्यायाधीश जयतेन्द्र कुमार की अदालत में निरस्त कर दिया गया।

जानकारी देते हुए जिला शासकीय अधिवक्ता मृदुल कान्त श्रीवास्तव ने बताया कि वादिया मुकदमा की अपने पति से मुकदमे बाजी चल रही थी। इसी दरम्यान उसकी मुलाकात राकेश मौर्या से हो गयी। उसने नाजायज फायदा उठाते हुए उसको कई प्रकार से प्रलोभन दिए। उसको किराये से मकान दिला दिया। इसी मकान में आकर उसके साथ शादी का झांसा देकर करीब 05 वर्ष पहले शारीरिक सम्बन्ध स्थापित किए।

यह भी कहता रहा कि शीघ्र ही तुम्हारे पति से निजात दिला दूंगा तथा हम दोनों शादी करके बतौर पति-पत्नी रहेंगे। तब से उक्त राकेश मौर्या लगातार उसके साथ शारीरिक सम्बन्ध स्थापित करता रहा। उसको दिल्ली, चित्रकूट, दतिया आदि स्थानों पर ले गया। लोगों से उसका अपनी पत्नी के रूप में परिचय कराता रहा।

उसने 2020 में जब शादी की जिद की तो उसको 05 दिसंबर 2020 को कचहरी नोटरी के पास ले आया। कुछ कागजातों पर उसके हस्ताक्षर कराये तथा एक फोटो प्रति उसको दी तथा कहने लगा कि हमारी शादी हो गई। आज से हम पति पत्नी हो गए हैं।

इसके बाद प्रतिदिन शारीरिक सम्बन्ध स्थापित करने लगा। उसने राकेश मौर्या द्वारा दी गई उक्त फोटो कापी कुछ लोगों को दिखायी तो उन्होंने बताया कि वह वैध शादी का प्रपत्र नहीं है। तब उसने 27 फरवरी 2021 को उससे उलाहना दिया कि मुझसे छलपूर्वक शारीरिक सम्बन्ध स्थापित किये हैं तथा कानूनी रूप से शादी नहीं की है। सामाजिक रीति-रिवाज से शादी करो तो उक्त राकेश मौर्या उत्तेजित हो गया तथा धमकी दी कि तुम्हें जो दिखाई दे सो कर लो।

राकेश मौर्या ने उसकी मारपीट की तथा उसका मुंह दबाकर जबरदस्ती गलत काम (बलात्कार) किया। वह चिल्लाई तो जान से मारने की धमकी देकर भाग गया। पीड़िता की शिकायत पर थाना नवाबाद में राकेश मौर्या पुत्र भगवानदास निवासी सदर बाजार के खिलाफ धारा- 376, 323, 506 भादं०सं०, के तहत मुकदमा दर्ज किया गया। उक्त मामले में जिला कारागार में बंद आरोपी / अभियुक्त राकेश मौर्या के अपराध को गम्भीर पृवत्ति का मानते हुए न्यायालय द्वारा उसका जमानत प्रार्थना पत्र निरस्त कर दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *